Yuva Jat Sanskar Shivir 6 to 10 June 2017 (युवा जाट संस्कार शिविर 6 से 10 जून 2017)

This part lists history of events and updates about all other coming up affairs to unite the community members to multiply the bonding by celebrating together or solve any issue by debating on common platform with other experts of society and come up with fruitful conclusion.

Yuva Jat Sanskar Shivir 6 to 10  June 2017 (युवा जाट संस्कार शिविर 6 से 10 जून 2017) jat samaj

Yuva Jat Sanskar Shivir 6 to 10 June 2017 (युवा जाट संस्कार शिविर 6 से 10 जून 2017)

  • by Admin
  • 2017-05-26 21:46:57

"साथियों कौम को जगाने का आखरी प्रयास है प्रतिवर्ष आयोजित होने वाला पांच दिवसीय "युवा जाट संस्कार शिविर" और इस प्रयास में आदर्श जाट महासभा सफल भी हुई है।इस वर्ष शिविर में जाट समाज के उत्थान के लिये बहुत बड़ा निर्णय लिया जायेगा जिसमे कौम के वैचारिक लोगो की उपस्तिथि बहुत जरूरी है। इस वर्ष यह शिविर 6 जून से 10 जून तक "टैगौर साइंस स्कूल" कुचामन में आयोजित होने जा रहा है।जिन युवाओ को शिविर में भाग लेना है उन्हें अपनी उपस्तिथि 5 जून को देनी होगी।शिविर की पहली शिक्षा है अनुशासन । जिनको अनुशासीत रहने में तकलीफ होती है वो शिविर से दुर रहे।आदर्श जाट महासभा को कॉन्टिटी नहीं क्वालिटी चाहिये जिसके सीने में कौम का दर्द हो। शिविर में वो सभी युवा भाग ले सकते हैं जिनको जाट होने पर गर्व है जिनकी उम्र 15 वर्ष से ऊपर है।संप्रदाय व धर्म का कोई बंधन नहीं है हिन्दू,सिख,विश्नोई,स्वामी धन्नावंशी हो या मुस्लिम हो जो अपने आप को जाट मानता है वो शिविर में भाग ले सकता है।हम पुजा पद्धति में विश्वास नहीं करते।कौन किस की पुजा करता है वो उनकी निजी जिंदगी का हिस्सा है। हम खून के रिश्ते में विश्वास करते हैं। शिविर में भाग लेने वाले शिविरार्थियों को अपने साथ सिर्फ खुद के पहनने के कपड़े,साबुन,तेल,टूथ ब्रास, टूथ पेस्ट व कंगा लाना है बाकी रहना,खाना सब जाट समाज की तरफ से है। शिविर की दिनचर्या बहुत ही व्यस्त है उसे मानना सभी शिविरार्थियों का कर्तव्य है।शिविर की शुरुआत सुबह 5 बजे जागने के साथ ही शुरू होती है जो दोपहर 3 घण्टे विश्राम के बाद रात्रि 10 बजे सोने के साथ पुरी होती है। शिविर के मुख्य उद्देश्य दो ही हैं पहला प्रत्येक जाट को अपना गौरवशाली इतिहास मालूम हो और दूसरा प्रत्येक जाट को मंच पर अपनी बात कहना आना चाहिये।इसलिये शिविर में उन लोगो को युवाओ का मार्गदर्शन करने के लिये बुलाय जाता है जो अपने विषय के ज्ञाता (एक्सपर्ट)हो। राजनेता,उद्योगपति व अधिकारी समाज का अभिन्न अंग है जिनकी संख्या बहुत कम है जो अपने हिसाब से समाज को चलाना चाहते है समाज उसके लिए तैयार नहीं है जिसके कारण समाज का बहुत बड़ा हिस्सा समाज से दुर होता जा रहा है। आदर्श जाट महासभा समाज के सभी वर्गों को एक ही नजर से देखती है और वो नजर है जाट। चाहे कितना ही बड़ा नेता हो,अधिकारी हो,पूंजीपति हो या गरीब किसान हो।सब को जाट मानकर सब का बराबर सम्मान करती है।यही कारण है कि आदर्श जाट महासभा के कार्येकर्मो में बी पी एल परिवार के जाट भी मंच पर बैठे नजर आते हैं। जाट एकता में सबसे बड़ी बाधा है समाज मे नये वर्गों का बनना।राजनेताओ का एक वर्ग बन गया जो सिर्फ जाट राजनेताओ की ही चिंता करता है,अधिकारियों का एक वर्ग बन गया जो सिर्फ जाट अधिकारियों को ही जाट मानता है,पूंजीपतिओं का एक वर्ग बन गया जो अपने आप को जाट कम और ब्राह्मण-बनिया ज्यादा मानता है।जाट समाज की रीढ़ है मध्यम वर्ग जो हमेशा अपने आप को जाट कहते हुये गौरान्वित होता है।गरीब जाट को अपनी कौम से ज्यादा अपना पेट भरने की चिंता है।इस प्रकार जाट कई वर्गों में बंट गये। आदर्श जाट महासभा "युवा जाट संस्कार शिविर"के माध्यम से जाटों को एक करने में लगी हुई है।जिसमे काफी सफलता भी मिल रही है। आदर्श जाट महासभा की इस मुहिम में युवा व मध्यम वर्ग के जाट तन,मन व धन से सहयोग कर रहे है जिन्होंने कभी भी जाट जाति को अपने हित में काम में नहीं लिया।जबकि जाट जाति के नाम को अपने हित में भुनाने वाले राजनेताओ का पिछले आठ शिविरों में योगदान जीरो है।पूंजीपति सहयोग तभी देते हैं जब उन्हें मंच पर बिठाया जाता है और अधिकारी वर्ग आदर्श जाट महासभा समय समय पर जाट हितों की रक्षा के लिए सरकार के खिलाफ बोलती रहती है जिसके कारण अधिकारी सहयोग करते डरते हैं।कुल मिलाकर जाट समाज में एकता स्थापित करने वाले "युवा जाट संस्कार शिविर" में इन तीनो वर्गों का योगदान नगण्य है जबकि जाट समाज का सबसे अधिक लाभ यह तीनों वर्ग उठाते हैं। इसलिये जाट एकता के लिये सभी वर्गों को एक झंडे पर लाने का प्रयास आदर्श जाट महासभा कर रही है। जाट समाज को पुरे देश में षड्यंत्र के तहत अलग थलग किया जा रहा है इसे समझने की जरूरत है।जाट एकता ही कौम को बचा सकती है।इसलिये एक दूसरे का सहयोग करते हुये कौम में एकता स्थापित करने में आदर्श जाट महासभा का सहयोग करें व अधिक से अधिक युवाओ को शिविर में भेजें।धन्यवाद शिविर आयोजन स्थल- टैगौर साइंस स्कूल,जुसरी रोड़, कुचामन,नागौर संपर्क सूत्र-9829980347 जय वीर तेजाजी जय यौध्ये आदर्श जाट महासभा,राज."