Community Prouds

Idols of society contribute by guiding the youth to enlighten their paths towards their targets by providing financial aids and services to them also motivate others to follow those paths and help in elevating the standards and examples of the society.

View Community Prouds

Sonika Tandi सोनिका तांडी - Hocky Player

Sonika Tandi सोनिका तांडी Jat Samaj pride

Contact: -

Churu - Rajasthan

सादुलपुर (राजगढ) तहसील के गालड़ गांव की बेटी सोनिका तांडी को भारत की जूनियर हॉकी टीम का कप्तान चुना गया है। उनके चयन की घोषणा भोपाल में 28 सितंबर को हुई बोर्ड की बैठक में हुई है।
सोनिका की इस उपलब्धि से चूरू जिले में खुशी की लहर है।सोनिका 22 अक्टूबर से स्पेन में होने वाली चैम्पियनशिप में देश का प्रतिनिधित्व करेंगी। सोनिका ने वर्ष 2008 में डीएवी पुलिस पब्लिक स्कूल हिसार में हॉकी की शुरुआत की थी।वर्ष 2009 से साई में खेल अभ्यास शुरू कर दिया। कड़ी मेहनत के बाद वह भारतीय टीम का हिस्सा बन गई। -गांव गालड़ के दौलत टांडी व संतोष के घर 20 मार्च 1997 को जन्मी सोनिका ने 5वीं तक की पढ़ाई गांव के स्कूल में की।

मिट्टी के मैदान से की शुरुआत

हिसार में राजकीय कॉलेज में बीए की छात्रा सोनिका ने बताया कि उन्होंने साई में बिना एस्ट्रोटर्फ मैदान में मिट्टी के मैदान पर हॉकी का अभ्यास किया। कठिन मेहनत और कोच आजसिंह मलिक, प्रोमिला तथा सरदार हरभजनसिंह ने हॉकी की ओर से सिखाई गई बारीकियों के कारण उन्हे यह मुकाम मिला। उसने बताया कि अब ओलंपिक में भारत का नेतृत्व करना उनका लक्ष्य है। इसके लिए प्रयासरत हैं।

अब तक की जीत का सफर

वर्ष 2011 में सब जूनियर नेशनल हॉकी प्रतियोगिता आंध्रा में सोनिका ने रजत
2012 में चंडीगढ़ में इसी प्रतियोगिता में रजत पदक जीता।
वर्ष 2013 में भोपाल में सब जूनियर नेशनल हॉकी प्रतियोगिता में सोनिका ने पहला स्वर्ण पदक जीता।
इसी वर्ष वह सीनियर टीम में भी खेली। जिसमें बेहतर प्रदर्शन के बल पर स्वर्ण पदक हासिल किया।
वर्ष 2014 में रांची में वुमेन नेशनल प्रतियोगिता हुई। इसमें स्वर्ण पदक जीता।
2015 में चीन में सितंबर माह में हॉकी के एशिया कप में बेहतर प्रदर्शन के बल पर चौथे स्थान पर रही।
वर्ष 2016 में सेफ गेम में भी सोनिका ने स्वर्ण पदक हासिल किया और वह टीम इण्डिया हॉकी में मिड फील्डर चुनी गई है।

Advertisement